हमे एक नया समाज बनाना होगा।

हमे एक नया समाज बनाना होगा।

हमे एक नया समाज बनाना होगा।

अगर हम चाहते है कि हमारी आने वाली पीढ़ी एक उन्नत और सही समाज में रहे और सुखी रहे तो हम सभी हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई को ये सोच बदलनी होगी कि एक दिन पूरी दुनिया हिन्दू हो जाएगी क्योकि वो सबसे पुराना धर्म है, या एक दिन दुनिया इस्लामिक हो जाएगी क्योकि वो भाई चारे का धर्म है, या एक दिन दुनिया ईसाई हो जाएगी क्योकि वो सेवा का धर्म है। नहीं हमे अब हिन्दू से सहिष्णुता और क्षमा भाव, इस्लाम से भाई चारा और ईसाई से सेवा भाव लेकर इन गुणों से एक नया समाज बनाना होगा।