आओ अब तो धर्म कोई ऐसा बनाया जाये

आओ अब तो धर्म कोई ऐसा बनाया जाये

आओ अब तो धर्म कोई ऐसा बनाया जाये। जिसमे इंसान को इंसान बनाया जाये !!

सारी दुनिया धार्मिक है कोई हिन्दू है कोई मुस्लमान है कोई सिख है कोई ईसाई है पूरी दुनिया धार्मिक है

यह नाम के धर्म है.

नाम के धर्म  इसलिए कहा क्योंकी यह धर्म नहीं सम्प्रदाय है उस धर्म तक पहुंचने के लिए जिसको सत्य धर्म कहते है !!  सत्य धर्म कोनसा होता है ?                                                                          क्या ये कोई नया धर्म है ?

सत्य धर्म वो धर्म है जिसे बुद्ध,महावीर,मोहमद,जीसस,नानक,कबीर,तथा अनेको ने पाया आज पुनः मैं वही धर्म तुम्हे सीखा रहा हूँ तुम उस सत्य धर्म को पहचानो !

सत्य धर्म का हिन्दू,मुस्लमान,सिख,ईसाई से कोई भी लेना देना नहीं है !!

आज पुनः मै वही धर्म तुम्हे सीखा रहा हूँ वह सत्य धर्म है जागरण ! मै चाहता हूँ की तुम जाग जाओ,तुम उसे पहचान जाओ  जो कण-कण में छुपा बैठा है ! तुम पहचानो उसे जो जर्रे-जर्रे में छुपा बैठा है !

तुम्हारे तथाकथित धर्म ने तुम्हे हमेशा से ही भेदभाव सिखाया है ! समता का शब्द, प्रेम का शब्द, दया-निर्मलता यह तो केवल तुम्हारे शास्त्रों में, शब्दों के रूप में ही बचे है ! वास्तविक जीवन में तो यह जीवन से कोसो दूर है !

हिन्दू चाहता है सारे मुस्लमान को हिन्दू बना लूँ और मुस्लमान चाहता है सारे हिन्दुओ को मुस्लमान बना लूँ ! यह कोई तुम्हारा धर्म से प्रेम नहीं है ! इससे तुम्हरे अहंकार को बल मिलता है ! प्रेम तो बुद्ध,महावीर,मोह्हमद,जीसस में था ! ध्यान से देखना उन्होंने किसी को धर्म परिवर्तन में नहीं धकेला ! हाँ उनके अनुयायी ने क्या किया वो तुम जैसे ही थे !

धर्म वो नहीं जिसे तुम मानते हो ! यह तो तुमने अपने अपने अहंकार को बढ़ाने के लिए हिन्दू मुसलमान सिख ईसाई के सुंदर वस्त्र ओढे हुए है ! ध्यान से देखना यह तुम्हारे अहंकार के ही वस्त्र है ! तुमने अपने अहंकार को ढकने के लिए सुंदर वस्त्र ओढे है और कुछ नहीं !

किसी भी प्रकार के प्रश्न उतर के लिए हमारी वेबसाइट क्लिक करे !

www.jagteraho.co.in

www.parmatma.org